GPRS Full Form Kya hai | मोबाइल जीपीआरएस का मतलब जानिए

दोस्तों आज इस लेख में आपको GPRS Full Form Kya hai | मोबाइल जीपीआरएस का मतलब क्या है इसकी जानकारी हिंदी में देंगे. Full Form of GPRS की knowledge के लिए यह पोस्ट पूरी पढ़िए.

GPRS ka Full form | GPRS Full Form ki Jankari | GPRS Kya Hai

Introduction of GPRS in Hindi

कुछ ही समय में 5G का जमाना आना वाला है लेकिन एक समय ऐसा भी था 2G Network चलता था. उस समय GPRS Technology का इस्तेमाल होता था.

आपने GSM शब्द तो कई बार सुना ही होगा और आप लोग इससे वाकिफ भी होंगे. GSM से ही GPRS टेक्नोलॉजी आई है तो अब ये GPRS technology क्या है, कैसे काम करती है और इसके क्या क्या फायदे होते हैं, ये सब हम आज इस आर्टिकल के माध्यम से समझेंगे.

क्योंकि ये 2G यानि सैकेंड जेनरेशन के जमाने की टेक्नोलॉजी है तो इसे outdated technology माना जाता है लेकिन इसने इंटरनेट को access करना कितना आसान बनाया ये समझना दिलचस्प है.

GPRS Full Form Kya Hai / Meaning of GPRS

Full form of GPRS- General Packet Radio Service यानि जनरल पैकेट रेडियो सर्विस

GPRS (General Packet Radio Service) का मतलब क्या है? 

ये एक ऐसा नेटवर्क है जो Wireless पर काम करता है. आसान भाषा में समझें तो ये एक ऐसी service है जिसका यूज़ mobiles और computers में किया जाता है.

GPRS का मतलब है कि कोई ऐसी सर्विस जिसका काम Data को Radio Waves के जरिए Transmit करना होता है. दोस्तों, आपको याद होगा कि शुरु में जब internet नहीं होता था तो हम mobile का इस्तेमाल सिर्फ voice calls करने और सुनने के लिए इस्तेमाल करते थे.

जो कि GSM यानि Global System for Mobile technology के द्वारा संभव होता था लेकिन उसके बाद दुनिया में internet का विकास हुआ और GPRS Technology के कारण हम अपने फोन में इंटरनेट चला पाते थे. GPRS, data surfing करने में मदद करता है. SIM ka Full Form Kya hai.

जीपीआरएस के बारे में रोचक तथ्य / Facts About GPRS in Hindi

GSM आपके फोन में यूज होने वाली sim-card की सुविधा को कहा जाता है. GSM की मदद से आप सिर्फ 1 मिनट में 6-10 Message send और receive कर सकते थे वहीं GPRS आने के बाद 1 मिनट में 30 मैसेज तक send और receive किए जाने लगे. SMS ka matlab & full form Kya hai.

चूकि GPS सिस्टम डेटा को सपोर्ट नहीं करता था इसीलिए इसकी मदद से Data को access नहीं किया जा सकता था इसीलिए existing GPS में कुछ modifications और upgradations किए गए ताकि वॉइस कॉल के साथ साथ ये डेटा को भी access कर सकें और इसी तरह GPRS ने GSM को रिप्लेस कर दिया.

GPRS को 2.5G नेटवर्क के भी नाम से जानते हैं क्योंकि ये उस वक्त आया था जब हम 2G नेटवर्क और 3G नेटवर्क का इस्तेमाल करते थे. पहले ये सिर्फ 2G पर काम करता था लेकिन उसके बाद GPRS को Upgrade किया गया और ये 3G पर भी काम करने लगा.

बता दें कि GPRS किसी भी फोन को 56kb/sec से 114kb/sec तक का ही स्पीड प्रोवाइड करता था. उस जमाने में GPRS जो डेटा स्पीड देता था वो आज के मुकाबले में काफी कम मानी जाती है लेकिन तब वही स्पीड काफी तेज मानी जाती थी. LTE Meaning Kya Hai.

जीपीआरएस का इतिहास / History of GPRS

अब थोड़ा सा GPRS का इतिहास भी जान लेते हैं. दरअसल, GPRS पहली ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसने Cell Network को Internet IP से जोड़ा था और इसी कारण इसे GSM-IP भी कहा जाता था.

GPRS की खोज बर्नहार्ड वाल्के और उनके एक शिष्य पीटर डेकर ने की थी. उनका मकसद दुनिया में इंटरनेट क्रांति लाना था. GPRS को European company ETSI ने सर्टिफाइड किया था.

साल 2000 में EDGE टेक्नोलॉजी आई जिसके हम GPRS का Upgradation मान सकते हैं. इस upgradation के बाद इसे Enhanced GPRS या EGPRS कहने लगे. इसके enhanced होने के बाद इसकी स्पीड में भी फर्क आया जो बढ़कर 384kb/sec हो गई और बाद में और ज्यादा बढ़कर 1mb/sec हो गई.

यहां EDGE का मतलब है / Full Form of EDGE- Enhanced Datarates for GSM Evolution.

Uses of GPRS (full form – General Packet Radio Service):

GPRS कॉल नेटवर्क को IP यानि Internet Protocol से जोड़ने से लिए इस्तेमाल होता है.

  • Short Message Service (SMS)-
  • Multimedia Message Service (MMS)-
  • Always on Internet
  • Point to Point (P2P)
  • Wireless Application Protocol (WAP)
  • Push-to-talk over Cellular (PoC)
  • Instant Message
  • हमेशा चलने वाली Internet service

जीपीआरएस के फायदे / Benefits of GPRS:

  • GPRS का सबसे बड़ा फायदा यही है कि इस Technology के कारण हमें इंटरनेट की सुविधा मिली. जैसा कि हमने आपको बताया कि GPS, data access नहीं करता था लेकिन GPRS के कारण Data को access किया जाने लगा.
  • Simultaneous use- जब आप GPRS द्वारा इंटरनेट access करते हैं तो ये gsm नेटवर्क द्वारा संचालित incoming calls को block नहीं करता है.
  • आप इंटरनेट browse करते हुए और data downloading के समय भी कॉल्स को कर सकते हैं और रिसीव भी कर सकते हैं.
  • Speed- हालांकि आजकल काफी fast technology आ चुकी हैं लेकिन अब भी GPRS पुराने WAP यानि Wireless Application Protocol और रेगुलर GSM सर्विस से तेज है.
  • Mobility- GPRS का सबसे बड़ा फायदा है कि जिस भी लोकेशन पर नेटवर्क सिग्नल होता है आप वहीं इंटरनेट इस्तेमाल कर सकते हैं यानि GPRS इंटरनेट को Wireless access देता है और इसके लिए सिर्फ mobile network की जरुरत है.
  • इसके कारण आप remote areas में अपने मोबाइल फोन या लैपटॉप्स में इंटरनेट चला सकते हैं.
  • Cost- GPRS के द्वारा बातचीत करना रेगुलर GSM Network से काफी सस्ता पड़ता है क्योंकि इसमें ग्राहक कितना डेटा transport किया जाता है उसके लिए पैसे भरते हैं न कि internet connection के duration की.

VOLTE ka Full Form & Meaning Janiye

टेक्नोलॉजी और मोबाइल नेटवर्कस के upgrade होने के बाद भी GPRS कई mobile networks द्वारा सपोर्ट किया जाता है.

JIO के आने के बाद इंटरनेट की दुनिया में एक क्रांति सी आ गई है. आजकल इंटरनेट के बिना जिंदगी अधूरी सी लगती है लेकिन एक समय वो भी था जब इंटरनेट शुरु में Develop हुआ था उस वक्त कुछ technology ऐसी थी जिनके बारे में आज भी कुछ लोगों को नहीं पता होगा क्योंकि आजकल उन्हें काफी advanced बना दिया गया है और नई-नई technologies को खोज लिया जा चुका है.

जी हां, आज का जमाना काफी advanced और technical हो गया है. पहले mobile phone ही नहीं होते थे लेकिन जब मोबाइल फोन आए तो उनका इस्तेमाल सिर्फ दूर बैठे लोगों से बात करने के लिए होता था लेकिन धीरे धीरे इंटरनेट आया और बदलती technology के साथ लोगों की जिंदगी में भी बदलाव आते चले गए. GPRS ka full form Quora me bhi padhiye– Webanimax

Leave a Comment

error

इस ब्लॉग का आनंद लिया, कृपया Share करें !